Friday, March 13, 2009

पिलाना फ़र्ज़ था
कुछ तो पिलाया होता
सागर नहीं था तो
आखों से पिलाया होता !!

No comments: