Saturday, March 19, 2011

bura na mano holi hai

बुरा न मानो होली है
           चली भले आज गोली है
हम जिस पर लिख रहे हैं 
            वह 'चीज़' तो सरकारी हैं 
---------- ---------- -------------
 होली के रंगारंग 
             कार्यक्रम पर 
नृत्य प्रस्तुत 
             करते हुए 

अपना हुनर 
              दिखाते रहे 
लोग 'एक बार फिर'
              का नारा लगाते रहे 

हम और भी 
              उमंग के साथ 
वही नृत्य बार-बार 
              दोहराते रहे 

अगर जजों  ने 
              एक न मानी 
हमको कम से कम 
              नम्बर देते रहे 
 
पुब्लिकली  हम 
              बहुत हाई रहे
मगर जब हमें 
              हूट करते रहे..  






         


   
   
      

No comments: