Tuesday, March 23, 2010

हमी नहीं... !!

ग़ज़ल लिखने का कुछ
सामान तो चाहिए
तुम नहीं तो तुम्हारा
अहसास तो चाहिए ।
बिक जाते बेमोल हम
जो तुम मुस्कुरा देते
हुनर है तुम्हारे पास
बस जुबां तो चाहिए ।

No comments: