Friday, February 13, 2009

कुछ तो बाकी रह जाए ,
प्यार का अहसास
इसलिए पेश_ए _नज़र है
गुलाब को गुलाब ।

No comments: