Sunday, August 1, 2010

[ ए अहद कह दे अपनी मिट्टी से
दाग लगने न पाए कफ़न पर
हमने आज ही बदले हैं कपडे
आज ही हम नहाए हुए हैं !!! ]

No comments: