Friday, March 13, 2009

कोई रंग लगाता रहा
कोई धुलाता रहा
हाथों मे गुझिया और साथ में
मय_ऐ_निगाह पिलाता रहा

No comments: